Loading...
14 जनवरी, 2012

14-01-12

सभी को सितोलिये मुबारक,गुल्ली डंडे की मौज मुबारक,पतंग की कट-फास मुबारक.मगर बड़ी अजीब बात है 

कि हम मुबारक कह सकते हैं,इस मौज को अनुभव नहीं कर सकते हैं. क्योंकि सभी को पैसे कमाने है,मकान 

बनाना है,जल्दी जल्दी गाड़ी लानी है.किस्तें चुकानी है.सब कुछ छोड़छाड़ कर ऑफिस जाना है.

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

 
TOP