Loading...
27 फ़रवरी, 2012

27-02-2012

आज ही स्कूल से घर लोटते ही शाम की चाय पर कोटा के हमारे वरिष्ठ साथी अतुल कनक का हाल ही केन्द्रीय साहित्य अकादेमी सम्मान से नवाज़ा जा चुका राजस्थानी उपन्यास 'जूण जातरा' डाक से मिला.कोटा के साथी डॉ. वीरेंद्र सिंह गोधारा ने कहीं से संभाल कर एक प्रति भेजी है.आजकल सम्मानित/पठन योग्य/चर्चित किताबें ही पढ़ पाता हूँ.

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

 
TOP