Loading...
29 मार्च, 2019

खेतीबाड़ी और मजदूरी करते हुए स्कूल लेक्चरर बनने का संघर्ष। अभिनव सरोवा । Story of Indian Youth । Mulaaqaat With Manik

नमस्कार
'खेतीबाड़ी और मजदूरी करते हुए स्कूल लेक्चरर बनने का संघर्ष। अभिनव सरोवा । Story of Indian Youth । Mulaaqaat With Manik'
-------------------------------
झुंझुनू राजस्थान का वासी अभिनव सरोवा एक मेहनती और अद्भुत जिजीविषा वाला युवा है। अपने राजस्थान के शेखावटी वाले प्रादेशिक माहौल में खेती, मजदूरी और पढ़ाई-लिखाई के संघर्षपूर्ण माहौल में पलकर बढ़ा हुआ नौजवान। आज राजस्थान सरकार में प्रतापगढ़ जैसे आदिवासी बहुल क्षेत्र में हिंदी विषय के स्कूल लेक्चरर के पद पर हैं। इस क्षेत्र में इलाके में बहुत लोकप्रिय अध्यापक हैं। इस बातचीत में अभिनव की कहानी है, ज़रूर देखिएगा। यह सफ़र और इसके अंत में अभिनव की मंजिल आपको हौसला देगी। देहाती बच्चों से एकमेक हो चुके अभिनव में आज के गिजुभाई की छाया अनुभव होती है। गज़ब के पढ़ाकू हैं। नवाचार करते इस अध्यापक ने कचोटिया स्कूल के आदिवासी विद्यार्थियों के बीच बहुत मेहनत की है। अपनी माटी ई-पत्रिका के यूट्यूब टेलीकास्ट शो 'Story of Indian Youth' में इनसे बातचीत संभव हुई है। बातचीत का लिंक यह https://youtu.be/XiQXO2OKrjQ रहा। अंत में आपको ठीक लगे तो इस सन्देश और जानकारी को मित्रों में शेयर करें ताकि युवाओं को हिम्मत मिलें। आने वाले वक़्त में 'अपनी माटी' के विडियो देखने-समझने के लिए इस यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/channel/UCknn7ofOySjeyTrFn8AJaPw को सबस्क्राइब कर लीजिएगा। लाभ में ही रहेंगे। आदर सहित YouTuber Team@Apni Maati

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

 
TOP