Loading...
21 मार्च, 2010

इनसे हम असल हिन्दुस्तानी

 पन्चवाध्यम

Kuddiyattam -कपिला वेणु 
राजशेखर मंसूर-गायक 

उस्ताद शाहिज़  परवेज-सितार 

उस्ताद अब्दुल्ल राशिद खान-१०० सालाना उम्र  के  गायक 

पंडित बिरजू महाराज और शाश्वती सेन जी-कथक गुरु 

स्पिक मैके के प्रणेता श्री किरण सेठ अपनी माताजी के साथ
उस्ताद फहीमुद्दीन डागर-ध्रुपद गायक 
आज मैं फिर से स्पिक मैके का आभारी हूँ कि उसने मुझे इन सभी महान कलाकारों से मिलने और उनकी सेवा करने का मौक़ा मुझे दिया.

5 comments:

  1. मैं तो यहाँ आते खुश हो गई, कितनी विविधता है सौन्दर्य से परिपूर्ण

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपकी..

    उत्तर देंहटाएं
  3. मनभावन,सुन्दर और आकर्षक. कहूँ कि जी जुड़ा गया. मेरा आदर स्वीकारें.

    उत्तर देंहटाएं
  4. मनभावन,सुन्दर और आकर्षक. कहूँ कि जी जुड़ा गया. मेरा आदर स्वीकारें.

    उत्तर देंहटाएं

 
TOP